एड़

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एड़ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ एडूक=हि़ड्डी या हड्डी की तरह कड़ा] टखनी के पीछे पैर की गद्दी का निकाला हुआ भाग । एड़ी । क्रि॰ प्र॰—देना ।—मारना ।—लगाना । मुहा॰—एड़ करना=(१) एड़ लगाना । (२) चल देना । खाना होना । एड़ देना या लगाना=(१) लात मारना । (२) घोड़े को आगे बढ़ाने के लिये एड़ से मारना । (घोड़े को) आगे बढ़ाना । (३) उभाड़ना । उसकाना । उत्तेजित करना । (४) अडंग लगाना । चलते हुए काम में बाँधा डालना ।