ऐंड़ाना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐंड़ाना क्रि॰ अ॰ [हिं॰ ऐंड़ना]

१. अँगड़ाना । अँगड़ाई लेना । बदन तोड़ना । उ॰—कबहूँ श्रुति कंडू करै आरस सों एँड़ाई । कैसोदास बिलास सों बार बार जमुहाइ ।—केशव ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ २४ ।

२. इठलाना । अकड़ दिखाना । बल दिखिना । उ॰—ज्यों सावन ऐड़ात भुजा ठोंकि सब शूरमा ।— केशव (शब्द॰) ।