ऐकत

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐकत पु वि॰ [सं॰ एकान्त] अकेला । एकाकी । उ॰—ऐकत छाँड़ि जाँहि घर घरनी तित भी बहुत उपाया । कहै कबीर कछु समझि न परई, विषम तुम्हारी माया ।—कबीर ग्रं॰, पृ॰ १५३ ।