ऐसे

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐसे क्रि॰ वि॰ [हिं॰ऐसा] इस ढब से । इस ढंग से । इस तरह से जैसे,—वह ऐसे न मानेगा ।

ऐसे छोड़े हुए साँड़ों से किसी प्रकार का काम नहीं लिया जाता । कहते हैं, जिन पितरों के नाम पर साँड़ छोड़े जाते हैं, वे स्वर्ग पहुँच जाते हैं । अशौच समाप्त होने के दूसरे दिन यह कृत्य करने का विधान है ।