ऐहिकदर्शी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐहिकदर्शी वि॰ [सं॰ऐहिकदर्शित] संसार को समझनेवाला । दुनीयादार [को॰] । ओ ओ संस्कृत वर्णमाला का तेरहवाँ और हिंदी वर्णमाला का दसवाँ स्वर वर्ण । इसका उच्चारणस्थान ओष्ठ और कंठ है । इसके उदात्त, अनुदात्त, स्वरित तथा सानुनासिक और अननुनासिक भेद होते हैं । संधि में अ+उ=औ होता है ।