ओःओः

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओःओः अव्य॰ [हिं॰] दे॰ 'ओह' । उ॰—वह इतना डर जाता है कि उसके मुँह से ओःओः छोडकर सीधी बात न निकलती ।—रस॰ क॰ (भू॰), पृ॰ ३ ।