ओठँगना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओठँगना क्रि॰ अ॰ [सं॰ *अवस्थाङ्गन प्रा॰ *ओट्ठागन या हिं॰ उठ़ना+ अंग]

१. किसी वस्तु से टिककर बैठना । सहारा लेना । टेक लगाना । उठँगना ।

२. थोड़ा आराम करना । कमर सीधी करना ।