ओतप्रोत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओतप्रोत ^१ वि॰ [सं॰] एक में एक बुना हुआ । गुथा हुआ । परस्पर लगा और उलझा हुआ । बहुत मिला हुआ । इतना मिला हुआ कि उसका अलग करना असंभव सा हो । उ॰—ओतप्रोत है जहाँ मनुज का जीवन मद मत्सर से ।—पथिक, पृ॰ १३ ।

ओतप्रोत ^२ संज्ञा पुं॰

१. ताना बाना ।

२. एक प्रकार का विवाह जिसमें एक आदमी अपनी लड़की का विविहा दूसरे के लड़के के साथ करता है और दूसरा भी अपनी लड़की का विवाह पहले के लड़के साथ करता है ।