ओनाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओनाना ^१ † क्रि॰ स॰ [सं॰ अवनमन]

१. दे॰ 'उनाना' ।

२. कान लगाकर सुनना ।

ओनाना ^२ क्रि॰ अ॰ [सं॰ आकर्णन, अकरर्णन] सुनाई पड़ना । श्रवणगोंचर होना । उ॰—हेरत घातै फिरै चहुघा तैं ओनात हैं बातैं दैवाल तरी सों ।—भिखारी ग्रं॰, भा१, पृ॰ २५ ।