ओरंगोटंग

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओरंगोटंग संज्ञा पुं॰ [मला॰ ओरांग ऊतान = जंगली मनुष्य, मरा॰ औरांगोटा = कपि आकृति का मनुष्य] सुमात्रा और बोनिंयो आदि द्वीपों में रहनेवाला एक बंदर या बनमानुष । विशेष—यह लगभग चार फुट ऊँचा होता है । इसका रंग लाल और भुजाएँ बहुत लंबी होती हैं । टाँगें छोटी होती हैं । यह बंदर पेड़ीं ही पर अधिक रहता है । इसके चेहरे पर बाल नही ं होते । चलते समय इसके तलवे और पंजे अच्छी तरह से जमीन पर नहीं पड़ते । यदि कोई इसे सताता है तो यह बड़ी भयंकरता से उसका सामना करना है ।