ओह

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ओह ^२ अब्य॰ [सं॰ अहह]

१. आश्चर्यसूचक शब्द ।

२. दुखःसूचक शब्द ।

३. बेपरवाई का सूचक शब्द ।

ओह ^२ सर्व॰ [हिं॰] दे॰ 'वह' । उ॰—(क) यम का ठेंगा है बुरा ओह नहिं सहिया जाइ । —कबीर ग्रं॰, पृ॰ २५९ । (ख) काया हाँड़ी काठ की ना ओह चढ़ै बहोरि । —कबीर ग्रं॰, पृ॰ १२१ ।