औटाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

औटाना क्रि॰ स॰ [हिं॰ ओटना का प्रे॰ रूप] दूध या किसी और पतली चीज को आँच पर चढाकर धीरे धीरे हिलाना और गाढ़ा करना । खौलाना । उ॰—(क) लखि द्विज धर्म तेल औटायो । बरत कराह माँझ डरवायो ।—विश्राम (शब्द॰) । (ख) पय औटावत महँ इक काला । कढ़े रंगपति विभव विशाला । —रघुराज (शब्द॰) ।