औनि

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

औनि पु, औनी पु संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ अवनि] दे॰ 'अवनि' । उ॰— मृग की मानौ चंचल छौनी । पावन करति फिरति छबि औनी ।—नंद॰ ग्रं॰, पृ॰ १२० । यौ॰—औनिप = दे॰ अवनिप । औनिबाल = पृथिवीपुत्र मंगल । उ॰— जावक सुरंग मैं न, इंगुर के रंग मैं न, इंद्रबधू अंग मैं न, रंग औनिंपाल मैं ।—गंग॰, पृ॰ २४ ।