औसना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

औसना † क्रि॰ अ॰ [हिं॰ उमस+ना (प्रत्य॰)]

१. गरमी पड़ना । ऊमस होना ।

२. देर तक रखी हुई खाने की चीजों में गंध उत्पन्न होना । बासी होकर सड़ना । क्रि॰ प्र॰—जाना ।

३. गरमी से व्याकुल होना । क्रि॰ प्र॰—जाना ।

४. फल आदि का भूसे आदि में दबकर पकना ।