कँसेरा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कँसेरा संज्ञा पुं॰ [हिं॰ काँसा+एरा (प्रत्य॰)] दे॰ 'कसेरा' । उ॰— हाट करे ओ प्रथम प्रवेश, अष्टधातु घटना पङ्गारे, कँसेरी पसराँ काँस्य कङ्गारा ।—कीर्ति॰, पृ॰ २८ ।