सामग्री पर जाएँ

कंघा

विक्षनरी से

हिन्दी

संज्ञा

  1. बाल झाड़ने या संवारने का एक उपकरण

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

कंघा संज्ञा पुं॰ [सं॰ कङ्कत॰ प्रा॰ कंकअ] [स्त्री॰ अल्पा॰ कंघी]

१. लकड़ी, सींग आदि की बनी हुई चीज जिसमें लंबे पतले दाँत होते हैं । इससे सिर के बाल झाड़े या साफ किए जाते हैं ।

१. बड़े आकार की कंघी ।

३. जुलाहो का एक औजार जिससे वे करघे में भरनी के तागों को कसते हैं । बय । बौला । बैसर । दे॰ 'कंघी'—२ ।