कंचूवा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कंचूवा संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ कञ्चुक] दे॰ 'कंचुवा—२' । उ॰—(क) सिर साड़ी गलि कंचुवउ हुवउ निचोरण जोग ।—ढोला॰ दू॰ ८३ । (ख) रतन जड़ित की कांचली औ कसी कंचूवउ षरड हो सुमीड़ ।—बी॰ रासो, पृ॰ ६६ ।