कंदुक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कंदुक संज्ञा पुं॰ [सं॰ कन्दुक]

१. गैंद । यौ॰—कन्दुकतीर्थ ।

२. गोल तकिया । गलतकिया । गेंडुआ ।

३. सुपारी । पुंगीफल ।

४. एक प्रकार का वर्ण वृत्त जिसके प्रत्येक चरण में चार यगण और एक लघु होता है । जैसे,—यूचौ गाइ कै कृष्ण को राधिका साथ । भजो पाद पाथोज नैके सदा माथ ।—(शब्द॰) ।