कन्या

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कन्या संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. अविवाहित लडकी । क्वारी लड़की । विशेष—पकाशर के अनुसार १० वर्ष की लड़की का नाम कन्या है । यौ॰—पंचकन्या=पुराण के अनुसार वे पाँच स्त्रियाँ जो बहुत पवित्र मानी गई है—अहल्या, द्रोपदी, कुंती, तारा, मंदोदरी । नवकन्या=तंत्र के अनुसार नौ जातियों की स्त्रियाँ जो चत्रपूजा के लिये बहुत पवित्र मानी गई है—नटी, कापालकी (कपाड़िया), वेश्या, धोबिन, नाइन, ब्राह्मणी, शूद्रा, ग्वालिन और मालिन ।

२. पुत्री । बेटी । यौ॰—कन्यादान । कन्यारासी । कन्याबेटी ।

३. १२ राशियों में से छठी राशि जिसकी स्थिति उतर फाल्गुनी के दूसरे पाद के आरंभ से चित्रा के दूसरे पाद तक है ।

४. घीक्वार ।

५. बड़ी इलायची ।

६. बाँझ ककोली ।

७. बाराही कंद । गेठी ।

८. एक वर्मवृत्त का नाम जिसमें चार गुरु होते हैं ।

९. एक तीर्थ पवित्र क्षोत्र का नाम । दे॰ 'कन्याकुमारी' ।

कन्या । बेटी ।

३. छोटी इलाइची ।

४. कान में पहनने की बाली ।

५. बालू । रेत ।