कश

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कश ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰] [स्त्री॰ कशा] चाबुक ।

कश ^२ संज्ञा पुं॰ [फा़॰]

१. खिंचाव । यौ॰—कशमकश । धुआँकश (स्टीमर) ।

२. हुक्के या चिलम का दम । फूँक । जैसे, —दो कश हुक्का पी लें तब चलें । क्रि॰ प्र॰—खींचना ।—मारना ।—लगाना ।—लेना ।

कश ^३ वि॰ खींचनेवाला । करनेवाला । जैसे, —आराकश, मेहनतकश, कद्दूकश । विशेष—इस अर्थ में इसका प्रयोग केवल समस्त पदों के अंत में होता है ।