कश्ती

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कश्ती संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰]

१. नौका । नाव । उ॰—कश्ती सकल जहाँन के, चस्तीसाह निजाम ।—चित्रा॰, पृ॰ १० ।

२. पान, मिठाई या बायना बाँटने के लिये धातु या काठ का बना हुआ एक छिछला बर्तन । विशेष—यह बर्तन लगभग थाली के बराबर और कुछ लंबाई लिए होता है ।

३. शतरंज का मोहरा ।