कस्तूरा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कस्तूरा ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ कस्तूरी] कस्तूरी मृग ।

कस्तूरा ^२ संज्ञा पुं॰ [देश॰]

१. जहाज के तख्तों की संधि या जोड़ ।

२. वह सीप जीससे मोती निकलता है ।

३. एक चिड़िया जिसका रंग भूरा पेट कुछ सफेदी लिए तथा पैर और चोंच पीले होते हैं । विशेष—यह पक्षी झुंड़ों में रहना पसंद करता है । यह पहाड़ी देशों में कशमीर के आसाम तक पाया जाता है और अच्छा बोलता है ।

४. एक ओषधि जो पोर्ट ब्लेयर के पहाड़ो की चट्टानों से खुरचकर निकाली जाती है । विशेष—यह दवा बहुत बलकारक होती है । दूध के साथ दो रत्ती भर खाई जाती है । लोग ऐसा मानते है कि यह अबाबील चिड़िया के मुँह का फेन है ।

४. लोमड़ी के आकार का एक प्रकार का जानवर जिसकी दुम लोमड़ी की दुम से लंबी और झबरी होती है । विशेष—कुछ लोगों का विश्वास है कि इसकी नाभि में से भी कस्तूरी निकलती है, पर वह बात ठीक नहीं है ।