कापी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कापी ^१ संज्ञा स्त्री॰ [अं॰ काँपी]

१. नकल । प्रतिरुप । क्रि॰ प्र.—उतरना ।—करना ।—होना । यौ.—कापीराइट ।

२. लिखने की सादी पुस्तिका ।

३. वह लिखा या छपा हुआ मैटर जो छापेखाना में कंपोज करने के लिये दिया जाय़ । जैसे,—कंपोज के लिये कापी दीजिए, कंपोजीटर बैठे हुए हैं ।

४. लीथो की छपाई में पीले कागज पर तैयार की हुई प्रतिलिपि जो छापने के लिये पत्थर या जिंक प्लेट पर लगाई जाती है ।

कापी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [अं॰ कैप] घिर्नी । गडारी ।—(लश॰) । मुहा.—कापी गोला या कापी का गोला=वह ढाँचा जिसमें जहाज की चरखी की गडारी बैठाई जाती है ।