कावा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कावा संज्ञा पुं॰ [फा॰] घोड़े को एक वृत्त में चक्कर देने की क्रिया । क्रि॰ प्र॰—काटना ।—खाना ।—देना ।—मारना । मुहा॰—कावा काटना = (१) एक वृत्त में दौ़ड़ना । चक्कर खाना । चक्कर मारना । (२) आँख बचाकर दूसरी ओर फिर निकल जाना । कावा देना = वृत्त में दैड़ना । चक्कर देना । (घोड़े को) कोवे पर लगाना = (घोड़े को) कावा या चक्कर देना ।