किल्ला

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

किल्ला संज्ञा पुं॰ [हि॰ किल] वहुत बड़ी कील या मेख । खूँटा

२. लकड़ी की वह मेख जो जाँते के बीचोबीच गडी रहती है और जिसके चारो ओर जाँता घुमता रहता है । कील । मुहा.—किल्ला गाड़कर बैठना=अटल होकर बैठना ।

किल्ला संज्ञा पुं॰ [सं॰ किलअ] दे॰ 'किला' ।