कुहनी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कुहनी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ कफोणि, प्रा॰, कहोणि]

१. हाथ और बाहु के जोड़ की हड़ड़ी । उ॰— किसी को चुटकी, किसी को कुहनी किसी को ठोकर निपट लड़ाका ।—नजीर (शब्द॰) ।

२. ताँबे या पितल की बनी हुई टेढ़ी नली जो हुक्के की निगाली में लगाई जाती है ।