खजाना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

खजाना संज्ञा पुं॰ [अ॰ खजानह्]

१. वह स्थान जहाँ धन संग्रह करके रख जाय ।—धनागारा ।

२. वह स्थान जहाँ कोई चीज संग्रह करके रखी जाय । कोश ।

३. राजस्व । कर ।

४. आधिक्य । बाहुल्य ।

५. बंदूक में बारूद रखने की जगह । क्रि॰ प्र॰—देना ।—माँगना ।—जमा करना ।—पहुँचना । यौ॰—खजाना अफसर = वह अधिकारी जिसके यहाँ जिले की सरकारी आय जमा होती है ।