खड्ग

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

खड्ग संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. प्राचीन काल का एक प्रसिद्ध अस्त्र जिसका व्यवहार आजकल केवल पशुओं को बलि देने के लिये होता है । तलवार इसी का एक भेद है । खाँड़ा ।

२. गैड़ा ।

३. एक बुद्ध का नाम ।

४. चोर । भटेऊर । एक गंध द्रव्य ।

५. तंत्र के अनुसार शक्तिपूजा की एक मुद्रा ।

६. लौह । लोहा (को॰) ।

७. गैडे की सींग (को॰) ।