खीरा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

खीरा संज्ञा पुं॰ [सं॰ क्षीरक] बरसात में होनेवाला ककडी की जाति का एक फल । विशेष—यह कुछ मोटा और एक बालिश्त तक लंबा होता है । इसकी तरकारी भी बनती है; परंतु अधिकतर लोग इसे नमक मिर्च के साथ कच्चा ही खाते हैं । इसके बीज दवा के काम में आते हैं । फल तथा बीजों कि तासीर ठंढी है । मुहा॰— खीरा ककडी = अत्यंत तुच्छ वस्तु । गाजर मूली ।