गँठबंधन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

गँठबंधन संज्ञा पुं॰ [सं॰ ग्रन्थिबन्धन, हिं॰ गाँठ + बंधन]

१. विवाह की एक रीति जिसमें वर और वधू के वस्त्र को परस्पर बाँध देते हैं ।

२. धोर्मिक आदि कर्म करते समय पति पत्नी के वस्त्र के छोंरों को मिलाकर गाँठ दिने की रीति । इस अवस्था में दोनों कुछ पूजा आदि करते हैं । यह संस्कार विवाह के चौथे दिन या किसी और दूसरे दिन अच्छी साइत देखकर होता है ।

३. दो चोजों या व्याक्तियों के बीच अतिसय ऐक्यः घनिष्ठ संग ।

४. साँठगाँठ । गुप्त समझौता ।