गधा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

गधा ^१ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ गदहा ] [स्त्री॰ गधी] दे॰ 'गदहा' ।

गधा ^२ वि॰ [हिं॰] नासमझ । मूर्ख । कमअक्ल (ला॰) । मुहा॰—गधा पीटे घोडा़ नहीं होता = सिखाने से मूर्ख आदमी विद्वान् और नीच आदमी भला नहीं होता । गधे को बाप बनाना = काम साधने के लिये तुच्छ या जड़ आदमी की बडा़ई करना । गधे पर चढ़ना = दे॰ 'गदहे पर चढा़ना' । गधे से हल चलवाना = बिलकुल उजाड़ देना । बरबाद कर देना ।