गलीचा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

गलीचा संज्ञा पुं॰ [फा़॰ ग़ालीचह् (तु॰ का़लीचह, का़लीनचह् तु॰ काली या कालीन से)]

१. एक प्रकार का खूब मोटा बुना हुआ बिछौना जिसपर रंगबिरंगे बेल बूटे बने रहते हैं और घने बालों की तरह सूत निकले रहते है । दे॰ 'कालीन' । विशेष—अब तक फारस, दमिश्क आदि से ऊन के गलीचे आते हैं । अब यह सूती भी बनाया जाता है ।

२. कहारों की बोली में कँकड़ीली भूमि ।