गुब्बारा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

गुब्बारा संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ गुब्बारह्]

१. थैली या उसके आकार की और कोई चीज जिसके अंदर गरम हवा या हवा से हलकी किसी प्रकार की भाप आदि भरकर आकाश में उडा़ते हैं । विशेष—इसके बनाने में पहले रेशम या इसी प्रकार की और किसी चीज के थैले पर रबर की या और बार्निश चढा़कर उसमें से हवा या भाप निकलने का मार्ग बंद कर देते हैं और तब उसमें गरम हवा या हवा से हलकी और कोई भाप भर देते हैं । इस थैले को एक जाल में भरकर उस जाल के नीचे कोई बडा़ संदूक या खटोला बाँध देते हैं जिसमें आदमी बेठते हैं । गुब्बारा हवा से हलका होने के कारण आकाश में उड़ने लगता है । उसे नीचे लाने के लिये इसमें की गरम हवा या भाप निकाल देते हैं ।

२. गुब्बारे के आकार का कागज का बना हुआ बडा़ गोला ।