गे

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

गे पु † क्रि॰ अ॰ [हिं॰ गा का वहु॰ व॰] दे॰ 'गया ^२' । उ॰— भजि और भ्रत्त छंडे रिनह गे राज बिजपाल तहाँ ।— पृ॰ रा॰, १ । ६५४ ।