ग्राहक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ग्राहक ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰] [स्त्री॰ ग्राहिका]

१. ग्रहण करनेवाला ।

२. मोल लेनेवाला । खरीदनेवाला । खरीददार ।

३. लेने या पाने की इच्छा रखनेवाला । चाहनेवाला ।

४. वह ओषधि जिसके सेवन से पतला दस्त आना बंद हो जाय और बँधा पाखाना होने लगे ।

५. बाज पक्षी ।

६. एक प्रकार का साग जिसे चौपतिया कहते हैं ।

७. शरीर में यविष्ट विष को चिकित्सा द्वारा दूर करनेवाला वैद्य । विष वैद्य ।

८. लोगों को कैद करनेवाला व्यक्ति । पुलिस अधिकारी (को॰) ।

ग्राहक ^२ वि॰ [वि॰ स्त्री॰ ग्राहिका]

१. ग्रहण करनेवाला ।

२. मल रोकनेवाला । बंदी करनेवाला ।

४. समझानेवाला [को॰] ।