घाव

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

घाव संज्ञा पुं॰ [सं॰ घात, प्रा॰ घाअ, घाय] शरीर पर का वह स्थान जो कट या चिर गया हो । क्षत । जख्म । चोटा ।

२. आघात । प्रहार । मुहा॰—घाव खाना=जख्मी होना । घायल होना । घाव पर नमक या नोन छिड़कना=दुख के समय और दुःख देना । शोक पर और शोक उत्पन्न करना । घाव देना=दुःख पहुँचाना । शोक में डालना । घाव पूजना या भरना=घाव का अच्छा होना ।