चंदनादि

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चंदनादि संज्ञा पुं॰ [सं॰ चन्दनादि] चंदन, खस, कपूर, बकुची, इलायची आदि पित्तानाशक दवाओं का वर्ग ।

चंदनादि तैल संज्ञा पुं॰ [सं॰ चन्दनादि तैल] लाल चंदन के योग से बनने वाला आयुर्वेद में एक प्रसिद्ध तेल । विशेष—यह तैल शरीर के अनेक रोगों पर चलता है और शरीर में नई कांति लानेवाला माना जाता है । रक्त चंदन, अगर, देवदारु, पद्यकाठ, इलायची, केसर, कपूर, कस्तूरी, जाय- फल, शीतल चीनी, दाल चीनी, नागकेसर इत्यादि को पानी के साथ पीसकर तेल में पकाते हैं और पानी के जल जाने पर तेल छान लेते हैं ।