चूर्ण

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चूर्ण ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. सुखा पीसा हुआ अथवा बहुत ही छोटे छोटे टुकडे़ में किया हुआ पदार्थ । सफूफ । बुकनी ।

२. कई पाचक औषधों का बारिक पीसा हुआ सफूफ ।

३. अबीर ।

४. धूल । गर्द ।

५. चूना ।

६. कौड़ी । कपर्दक ।

७. आटा । पिसान (को॰) ।

८. गंधद्रवय का चूर्ण (को॰) ।

चूर्ण ^२ वि॰

१. जो किसी प्रकार तोड़ा फोड़ा या नष्ट भ्रष्ट किया गया हो । जैसे, — गर्व चूर्ण करना ।

२. चूर्ण किया हुआ । चाँदी, सोना आदि का किया हुआ चूर [को॰] ।