चेक

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

चेक रिपब्लिक देश की भाषा

अनुवाद[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चेक संज्ञा पुं॰ [अं॰]

१. वह रुक्का या आज्ञापत्र जो किसी बंक आदि के नाम लिखा गया हो और जिसके देने पर वहाँ से उसपर लिखी हुई रकम मिल जाय । एक प्रकार की हुंडी । विशेष— साधारणः चेकों का एक निश्चित स्वरूप हुआ करता है । किसी बंक के नाम चेक लिखने का अधिकार उसी को होता है जिसका रुपया बैंक में जमा हो । मुहा॰— चेक काटना = चेक लिखकर (चेक बुक में से अलग कर या उसमें से काटकर) देना । यौ॰— चेक बुक— बहुत से सादे चेकों को सीकर बनाई हुई किताब ।

२. बहुत सी सीधी रेखाओं पर आड़ी खींची हुई रेखाएँ जिनसे बहुत से चौकोर खाने बन जाँय । चारखाना ।

३. एक प्रकार का चारखाने का कपड़ा ।

यह भी देखिए[सम्पादन]