छतीसा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

छतीसा वि॰ [हिं॰ छत्तीस] [वि॰ स्त्री॰ छत्तीसी]

१. जिसे छत्तीस बुद्धि हो । चतुर । सयाना । चालाक । उ॰—(क) पीसी है मनोज की सी छूटेगी छतीसी छँटी सुरत उड़ी सी भरी भाग की नदी सी है ।—रघुराज (शब्द॰) । (ख) आए हौ पठाए वा छतीसे छलिया के इतै बीस बीसै ऊधी बीरबावन कलोंव ह्वै ।—रत्नाकर, भा॰ १, पृ॰ १४५ ।

२. मक्कार । धूर्त । जैसे,—नाई की जाति बड़ी छतीसी होती है ।