जहन्नुम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

जहन्नुम संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. नरक । दोजख । मुहा॰—जहन्नुम में जाना (१) नष्ट या बर्बाद होना, (२) आँखों से दूर होना । जहन्नुम में जाय । हमें कोई संबंध नहीं । विशेष—इस मुहावरे का प्रयोग दुःखजनित उदासीनता प्रकट करने के लिये होता है । जैसे,—अब मानता ही नहीं, तब जहन्नुम में जाय ।

२. वह स्थान जहाँ बहुत दुःख और कष्ट हो ।