जिला

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

जिला ^१ संज्ञा स्त्री॰ [अ॰]

१. चमक दमक । ओप । पानी । मुहा॰—जिला करना या देना=किसी वस्तु को माँजकर तथा रोगन आदि चढ़ाकर चमकाना । सिकली करना । जैसे,— हथियारों पर जिला देना, तलवार पर जिला देना । यौ॰—जिलाकर=सिकलीगर ।

२. माँजकर तथा रोगन आदि चढ़ाकर चमकाने का कार्य । झलकाने की क्रिया । ओप देने का कार्य ।

जिला ^२ संज्ञा पुं॰ [अ॰ जिलअ]

१. प्रांत । प्रदेश ।

२. भारतवर्ष में किसी प्रांत का वह भाग जो एक कलक्टर या डिप्टी कमिश्नर के प्रबंध में हो ।

३. किसी इलाके का छोटा विभाग या अंश । यौ॰—जिलादार ।

४. किसी जमींदार के इलाके के बीच बना हुआ वह मकान जिसमें वह या उसके आदमी तहसील वसूल आदि के लिये ठहरते हों ।

जिला जज संज्ञा पुं॰ [अ॰ जिलअ + अं॰ जज] जिले का प्रधान न्यायाधीश । जिलाधीश ।

जिला मैजिस्ट्रेट संज्ञा पुं॰ [अ॰ + अं॰] जिले के बड़ा हाकिम जो फौजदारी मामलों का फैसला करता है । जिला हाकिम । विशेष—हिंदुस्तान में जिले का कलक्टर और मैजिस्ट्रेट एक ही मनुष्य होता है जो अपने दो दो पदों के कारण दो नामों से पुकारा जाता है । मालगुजारी संबंधी कार्यों का अध्यक्ष (प्रधान) होने से कलक्टर और फौजदारी मामलों का फैसला करने के कारण वह मैजिस्ट्रेट कहलाता है ।