जोड़ना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

जोड़ना । उ॰—अंजुलि जोरि डरात डरात । कहन लगे बिप्रनि सौं बात ।—नंद॰ ग्रं॰, पृ॰ ३०१ ।

जोड़ना क्रि॰ स॰ [सं॰ जुड़ (= बाँधन) या सं॰ युक्त, प्रा॰ जुह]

१. दो वस्तुओं को सीकर, मिलाकर, चिपकाकर अथवा इसी प्रकार के किसी और उपाय से एक करना । दो चीजों को मजबूती से एक करना । जैसे, लंबाई बढा़ने के लिये कागज या कपडा़ जोड़ना ।

२. किसी टुटी हुई चीज के टुकड़ों को मिला कर एक करना ।

३. द्रव्य या सामग्री को क्रम से रखना, लगाना या स्थापित करना । जैसे, अक्षर जोड़ना, इंट या पत्थर जोड़ना ।

४. एकत्र करना । इकट्ठा करना । संग्रह करना । जैसे, रुपए जोड़ना । कुनबा जोड़ना, सामग्री जोड़ना ।

५. कई संख्याओं का योगफल निकालना । मीजान लगाना ।

६. वाक्यों या पदों आदि की योजना करना । वर्णन प्रस्तुत करना । जैसे, कहानी जोड़ना, कविता जोड़ना, बात जोड़ना तूमार या तूफान जोड़ना (= झूठा दोषारोपण करना) ।

७. प्रज्वलित करना । जलाना । जैसे, आग जोडना, दीआ जोड़ना ।

८. संबंध स्थापित करना ।

९. संबंध करना । संबंध उत्पन्न करना । जैसे, दोस्ती जोड़ना । †

१०. जोतना । संयो॰ क्रि॰—देना ।