झुमका

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

झुमका संज्ञा पुं॰ [हिं॰ झुमना]

१. कान में पहनने का एक प्रकार का झूलनेवाला गहना जो छोटी गोल कटोरी के आकार का होता है । उ॰—सिर पर हैं चँदवा शीशा फूल, कानों में झुमके रहे झूल ।—ग्राम्या, पृ॰ ४० । विशेष— इस कटोरी का मुँह नीचे की ओर होता है और इसकी पेंदी में एक कुंदा लगा रहता है जिसके सहारे यह कान में नीचे की ओर लटकती रहती है । इसके किनारे पर सोने के तार में गुथे हुए मोतियों आदि की झालर लगी होती है । यह सोने, चाँदी या पत्थर आदि का और सादा कथा जड़ाऊ भी होता है । यह अकेला भी कान में पहना जाता है और करण— फूल के नीचे लटकाकर भी ।

२. एक प्रकार का पौधा जिसमें झुमके के आकार के फूल लगते हैं ।

३. इस पौधे का फूल ।