टकटोरना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टकटोरना † क्रि॰ स॰ [सं॰ त्वक् (=चमड़ा)+तोलन (=अंदाज करना)] हाथ से छूकर पता लगाना या जाँचना । स्पर्श द्वारा अनुसंधान या परीक्षा करना । टटोलना । उ॰—(क) सूर एकहू अंग न काँची मैं देखी टकटोरि ।—सूर (शब्द॰) । (ख) नहि सगुन पायउ एक मिसु करि एक धनु देखन गए । टकटोरि कपि ज्यौ नारियरु सिर नाइ सब बैठत भए ।—तुलसी ग्रं॰, पृ॰ ५३ ।

२. तलाश करना । ढूँढना । खोजना । उ॰— मोहि न पस्याहु तौ टकटोरी देखो पन दै ।—स्वामी हरिदास (शब्द॰) ।