टक्कदेश

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टक्कदेश संज्ञा पुं॰ [सं॰] चुनाव और ब्यास के बीच के प्रदेश का प्राचीन नाम । विशेष—राजरंतगिणी में टक्क देश को गुर्जर (गुजरात) राज्य के अंतर्गत लिखा है । टक्क जाति किसी समय में अत्यंत प्रताप— शालिनी थी और सारे पंजाब में राज्य करती थी । चीनी यात्री हुएनसाँग ने टक्क राज्य तथा उसके अधिपति मिहिरकुल का उल्लेख किया है । मिहिरकुल का हूण होना इतिहासों में प्रसिद्ध है । ये हूण पंजाब और राजपूताने में बस गए थे । यशोधर्मन् द्वारा मिहिरकुल के पराजित होने (५२८ ईसवी) के ७८ वर्ष पीछे हर्षवर्धन राजसिंहासन पर बैठे थे जिनके राजत्वकाल में हुएनसाँग आया था । टक्क शायद हूण जाति की ही कोई शाखा रही हो ।