टङ्कण

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टंकण ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ टङ्कण]

१. सुहागा ।

२. धातु की चीज में टाँका मारकार जोड़ लगाने का कार्य ।

३. घोड़े की एक जाति ।

४. एक देश जिसका नाम जो बृहत्संहिता में कोंकण आदि के साथ आया है ।

टंकण ^२ संज्ञा पुं॰ [अनुध्व॰] टाइपराइटर पर टंकित करने का कार्य । टाइप करना । उ॰—छपाई और टंकण की कठिनाइयाँ कैसे दूर हों ।—भा॰ शिक्षा, पृ॰ ५९ ।