टहलना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टहलना क्रि॰ अ॰ [?]

१. धीरे धीरे चलना । मंद गति से भ्रमण करना । धीरे धीरे कदम रखते हुए फिरना । मुहा॰—टहल जाना = धीरे से खिसक जाना । चुपचाप अन्यत्र चला जाना । हट जाना । जान बूझकर उपस्थित न रहना ।

२. केवल जी बहलाने के लिये धीरे धीरे चलना । हवा खाना । सैर करना । जैसे,—वे सँध्या को नित्य टहलने जाते हैं ।

३. परलोक गमन करना । मर जाना । संयो॰ क्रि॰—जाना ।