टहेल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टहेल पु † संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ टहल] दे॰ 'टहल' । उ॰—सो वह वीराँ नित्य अपने हाथ सों श्री ठाकुर जी की सेवा टहेल करती ।—दो सौ बावन॰, भा॰ १, पृ॰ १२१ ।