ठगलाड़ू

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठगलाड़ू संज्ञा पुं॰ [हिं॰ ठग + लाड़ू ( = खड्डू)] ठगों का लड्डू जिसमें नशीली या बेहोशी करनेवाली चीज मिली रहती थी । विशेष—ऐसा प्रसिद्ध है कि ठग लोग पथिकों से रास्ते में मिलकर उन्हें किसी बहाने से अपना लड्डू खिला देते थे जिसमें वि ष या कोई नशीली चीज मिली रहती थी । जब लड्डू खाकर पथिक मूर्छित या बेहोश हो जाते थे तब वे उनके पास जो कुछ होता था सब ले लेते थे । मुहा॰—ठगलाड़ू खाना = मतवाला होना । होशहवास में न रहना । बेसुध होना । उ॰—सूर कहा ठगलाड़ू खायो । इत उत फिरत मोह को मातो कबूहुँ न सुधि करि हरि चित लायो ।—सूर (शब्द॰) । ठगलाड़ू देना = बेसुध करनेवाली वस्तु देना । उ॰—मनहु दीन ठगलाड़ू देख आय तस मीच ।— जायसी (शब्द॰) ।